राजस्थान दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना

[ad_1]

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना राजस्थान | dindayal upadhyay varishth nagrik tirth yojna | दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना | rajasthan varishth nagrik tirth yatra yojna | राजस्थान  वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना | 

राजस्थान सरकार की 60 वर्ष तथा इससे अधिक उम्र के वरिष्ठ लोगों को आदर एवं सम्मान के साथ उन्हें निःशुल्क तीर्थ यात्रा करवाने की योजना राज्य सरकार लेकर आई है, जिसका नाम ”दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थयात्रा योजना” रखा गया है। दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना राजस्थान के आवेदन होने शुरू हो गए है। राजस्थान सरकार के सभी वरिष्ठ जन जो इस योजना के पात्र है, वे दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत पूरे देश भर में स्थित विभिन्न तीर्थ स्थलों की यात्रा कर सकते है। राजस्थान सरकार द्वारा दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना में एक बार में 20 हजार वरिष्ठ लोगों को विभिन्न तीर्थ स्थलों की यात्रा कारवाई जाएगी। इसके तहत लगभग 15 हजार वरिष्ठ जन यात्रियों का चयन रेल यात्रा के लिए और बाकी बचे 5000 यात्रियों का हवाई यात्रा से सफर करवाया जाएगा।

राजस्थान  वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का प्रमुख उद्देश्य 

इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के वरिष्ठ जन ही ले सकते है, जिनकी आयु 60 वर्ष या उससे अधिक हो। राजस्थान वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का प्रमुख उद्देश्य प्रत्येक वरिष्ठ जन को एक बार राज्य के बाहर स्थित सरकार द्वारा लक्षित तीर्थ स्थानों मे से किसी भी एक तीर्थ स्थल की यात्रा करवाना है। इसके लिए राजस्थान सरकार द्वारा काफी हद तक सुविधा और सहायता प्रदान की जाएगी।

राजस्थान वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए आवेदक करने वाले सभी वरिष्ठ जनों के लिए यह जरूरी है,की वे आयकरदाता नहीं हो और ना ही राज्य या केंद्र सरकार के सेवानिवृत कर्मचारी हो। इसके साथ ही साथ जो वरिष्ठ जन राजस्थान वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का लाभ लेना चाहते है वे शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से स्वस्थ होने जरूरी है। राजस्थान वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए सभी लोगों का लॉटरी द्वारा चयन होगा। लॉटरी द्वारा जिन जिन वरिष्ठजनों का चयन होगा, उन सबको अपना मेडिकल फिटनेश प्रमाण पत्र बनवाना अनिवार्य होगा।

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए पात्रता

1. प्रत्येक आवेदक को आवेदन करते समय अपने किन्हीं दो रिशतेदारों के नाम, उनके मोबाइल नंबर, और साथ ही साथ अन्य तरह की जानकारी भी देने आवश्यक होगा, ताकि आपात स्थिति में आवेदक के रिशतेदारों से तुरंत संपर्क किया जा सके।

2. ऐसे वरिष्ठ लोग जिनकी आयु 70 वर्ष या उससे ज्यादा है, और इन लोगों ने अकेले यात्रा करने के लिए आवेदन किया है, तो ऐसे वरिष्ठलोग अपने साथ किसी एक सहायक को ले जा सकते है। यह जरूरी नहीं है की वह सहायक आवेदक का रिश्तेदार ही हो, किसी भी व्यक्ति को ले जा सकते है। लेकिन यदि वह व्यक्ति हवाई यात्रा करना चाहता है, तो उसका सहायक हवाई यात्रा का पात्र नहीं होगा। जो व्यक्ति 70वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ जन के साथ जाना चाहता है, उसकी आयु 21 से 45 वर्ष के मध्य होनी चाहिए और महिला सहायक की आयु 30-45 वर्ष रखी गयी है।

3. यदि 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के पति-पत्नी दोनों साथ साथ यात्रा कर रहे है, तो उनके साथ सहायक को ले जाने की सुविधा नहीं मिलेगी।

4. यदि आवेदन करने वाले व्यक्ति की पत्नी की आयु 60 वर्ष पूरी नही हो तो भी वे इस यात्रा में अपने पति के साथ जा सकती है।

5. वरिष्ठ जनों को आवेदन करते समय ही यह बताना जरूरी है, की उनके साथ उनका जीवन-साथी/सहायक भी उनके साथ यात्रा करना चाहता है।

6. यदि आवेदक यात्रा के दौरान अपने साथ सहायक को साथ ले जाता है, तो उसे भी सभी तरह की सुविधाएं मिलेगी।

7. सभी यात्रियों का चुनाव जिला स्तर के मुख्यालय में संबन्धित जिला के कलेक्टर द्वारा लॉटरी निकाल कर किया जाएगा। सभी चयनित वरिष्ठ जनों की सूची जिला मुख्यालय पर या फिर उपखंड मुख्यालय और देवस्थान विभाग की official website पर चस्पा कर दी जाएगी ।

8. सभी चयनित यात्रियों को यह सुनिश्चित करना बहुत जरूरी है की वे यात्रा से पहले स्वस्थ्य संबंधी चिकित्सा प्रमाण पत्र प्राप्त कर लें और अपनी साथ रखे।

9. एक बार चयन होने के पश्चात यदि किसी कारणवश आवेदक यात्रा नहीं करना चाहता है, या फिर यात्रा करने मे असमर्थ होता है, तो उसे समय से पहले पहले हेल्पलाइन नंबर पर सूचना देनी होगी, नहीं तो ऐसी स्थिति में उसे भविष्य में  दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए अपात्र घोषित कर दिया जाएगा।

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए चयन प्रक्रिया

सभी यात्रियों का चयन जिला स्तर पर किया जाएगा। इसलिए लिए एक समिति का गठन किया जाएगा, जिसका process इस प्रकार है।

1. जो जो लोग जिन जिन स्थानों की यात्रा करना चाहता है, उसके अनुसार आवेदन के लिए कोटे के अनुसार ही यात्रियों का चयन किया जाएगा। यदि निश्चित कोटे से अधिक आवेदन आ जाते है, तो लॉटरी के आधार पर सभी यात्रियों का चुनाव किया जाता है। जो की पूरी तरह कम्प्युटर पर आधारित होगा।

2. निश्चित लोगों का चयन होने के बाद उतने ही कोटे के अनुसार 100% और रिजर्व लोगों का भी चुनाव किया जाता है, जिससे किसी यात्री के यात्रा ना करने की दशा में रिजर्व यात्रियों को यात्रा करने का मौका मिल सके।

3. लॉटरी निकलते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाता है, की वरिष्ठ जनों के साथ यदि उनकी पत्नी या सहायक भी जा रहा है, तो उनकी 1 ही सीट मान कर टोटल बर्थ/सीटों मे से एक सीट कम कर दी जाएगी।

4. सभी चयनित लोगों और प्रतीक्षा सूची में जिन जिन लोगों का नाम आया हुआ हैं उनके नाम कलेक्टर कार्यालय और अन्य ऐसी मध्याम जिससे लोगों को जानकारी मिल सके, वहाँ पर नोटिस बोर्ड पर सूची लगाई जाएगी।

5. एक बार चयन होने के पश्चात किसी भी सहायक या पत्नी को साथ मे नहीं ले जाया जा सकेगा।

6. यात्रा के दोनों माध्यम रेल एवं हवाई यात्रा के लिए लॉटरी एक साथ ही निकली जाएगी, उसके बाद लोगों का हवाई एवं रेल यात्रा के लिए चुनाव किया जाएगा।

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए तीर्थ स्थानों की सूची

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत निम्न स्थानों की यात्रा कारवाई जाएगी। इसलिए आपको जिन जिन स्थानों की यात्रा करनी है, उनसभी स्थानों का चयन कर के आवेदन पत्र में जरूर लिखें।

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत रेल द्वारा निम्न स्थानों की यात्रा कारवाई जाएगी :-
1. जगन्नाथपुरी           2. रामेश्वरम्         3. वैष्णोदेवी        4. तिरूपति
5. द्वारिकापुरी             6. अमृतसर       7. सम्मेदशिखर     8. गोवा
9. श्रावण बेलगोला      10. बिहार शरीफ   11. शिरडी        12. पटना साहिब    
13. गया- बोधगया काशी- सारनाथ  

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत रेल द्वारा कुल 15000 लोगों को रेलमार्ग से यात्रा कारवाई जाएगी।

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत हवाई जहाज द्वारा निम्न स्थानों की यात्रा कारवाई जाएगी :-
1. जगन्नाथपुरी           2. रामेश्वरम्       3. तिरूपति
4. वाराणसी (काशी)- सारनाथ   5. अमृतसर       6. सम्मेदशिखर   
7. गोवा        8. बिहार शरीफ     9. शिरडी          10. पटना साहिब

दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत हवाई जहाज द्वारा कुल 5000 लोगों को हवाई मार्ग से यात्रा कारवाई जाएगी।

राजस्थान  वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म http://devasthan.rajasthan.gov.in/

तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना, राजस्थान के बारे में जान कर कैसे लगा है, हमें आशा ही नहीं पूरा विश्वास है की इस योजना से संबन्धित आपके सारे संशय दूर हो गए होंगे। आप यह भी जान गए होंगे की दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना, राजस्थान के लिए ऑनलाइन आवेदन किस तरह करें। यदि आपके पास अभी भी कोई सवाल है, तो हमें कमेंट करके बता सकते हैं , आपके सभी प्रश्नो का हम जरुर जवाब देंगे| यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं|

[ad_2]

Updated: March 3, 2019 — 6:17 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *